नए दोस्त बनाना मुश्किल है (Naye Dost Banaana Mushkil Hai)

अपने मित्रों की संख्या को
अब और बढ़ाना मुश्किल है,
स्मार्ट-फ़ोन की दुनिया में
नए दोस्त बनाना मुश्किल है।

सुबह शाम जब सैर को 
बाग़ीचे में जाते थे,
सैर सपाटे संग राह में 
मित्र नए बन जाते थे,
आकर्णक भर कानों में 
सैर सभी अब करते हैं,
बातें करना तो दूर 
नज़रें मिलाना मुश्किल है,
स्मार्ट-फ़ोन की दुनिया में 
नए दोस्त बनाना मुश्किल है।

बच्चों संग उनकी तैराकी 
कक्षा में जब जाते थे,
बैठ प्रतीक्षालय में 
नए-नए लोगों से बतियाते थे,
बातें करते-करते ही 
नए मित्र कई बन जाते थे,
सोशल-मीडिया अचेतों से 
बतियाना अब मुश्किल है,
स्मार्ट-फ़ोन की दुनिया में 
नए दोस्त बनाना मुश्किल है।

एक तरफ़ है होड़ लगी 
मित्र-सूची ख़ूब बढ़ाने की,
दूजी ओर है आदत यह 
असल मित्रों को घटाने की,
व्हाट्सऐप पर करते कोशिश 
हरदम ज्ञान बाँटने की,
चैट पर हैं बातें बहुत 
साक्षात करना अब मुश्किल है,
स्मार्ट-फ़ोन की दुनिया में 
नए दोस्त बनाना मुश्किल है।

अपने मित्रों की संख्या को 
अब और बढ़ाना मुश्किल है,
स्मार्ट-फ़ोन की दुनिया में
नए दोस्त बनाना मुश्किल है।
apne mitron kee sankhya ko
ab aur badhaana mushkil hai,
smart-phone kee duniya mein
naye dost banaana mushkil hai.

subah shaam jab sair ko
baageeche mein jaate the,
sair sapaate sang raah mein
mitr naye ban jaate the,
aakarnak bhar kaanon mein
sair sabhee ab karate hain,
baaten karana to door
nazrein milaana mushkil hai,
smart-phone kee duniya mein
naye dost banaana mushkil hai.

bachchon sang unkee tairaakee
kaksha mein jab jaate the,
baith prateekshaalay mein
naye-naye logon se batiyaate the,
baatein karte-karte hee
naye mitr kayi ban jaate the,
social-media acheton se
batiyaana ab mushkil hai,
smart-phone kee duniya mein
naye dost banaana mushkil hai.

ek taraf hai hod lagee
mitr-soochee khoob badhaane kee,
doojee or hai aadat yah
asal mitron ko ghataane kee,
WhatsApp par karte koshish
hardam gyaan baantane kee,
chat par hain baaten bahut
saakshaat karna ab mushkil hai,
smart-phone kee duniya mein
naye dost banaana mushkil hai.

apne mitron kee sankhya ko
ab aur badhaana mushkil hai,
smart-phone kee duniya mein
naye dost banaana mushkil hai.

मनीष कुमार श्रीवास्तव (Maneesh Kumar Srivastava)

2 thoughts on “नए दोस्त बनाना मुश्किल है (Naye Dost Banaana Mushkil Hai)

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s